चरस मामले में आरोपी को दस साल कठोर कारावास, एक लाख रुपये...

चरस मामले में आरोपी को दस साल कठोर कारावास, एक लाख रुपये जुर्माना

कुल्लू से हीना 

राकेश चौधरी की विशेष जज की अदालत  ने चरस  के एक मामले  में कुल्लू  के शीशामाटी निवासी  गगन कुमार  को दस साल  कठोर कारावास  और एक लाख रूपये  जुर्माने  की सजा  सुनाई .जुर्माना अदा ना करने की स्थिति  में आरोपी को 2  साल  की  अतिरिक्त सजा  भुगतनी  होगी. आरोपी को भारतीय  दंड  संहिता की धारा 379  के तहत  एक साल  की सजा भी सुनाई गई  है .

जिला न्यायवादी एन  एस कटोच के मुताबिक़ 21 फरवरी 2014 को  पुलिस मोहल की ऑर  पेट्रोलिंग  कर रही थी .तभी पीरडी  नाला के पास एक लाल रंग का आटो तिरपाल से ढका हुआ दिखाई दिया उसके साथ  ही  एक कार खड़ी थी और तीन लोग आटो  से कुछ उतार रहे थे कि तभी पुलिस  को देखकर कार आटो  की ऑर दौड़ी और गगन  ने तीनो को भागने के लिए कहा  तीन लोग पुलिस के हत्थे  चढ़े लेकिन एक अन्धेरे  का फायदा उठाकर फरार  हो गया .

जिला न्यायवादी एन  एस कटोच के मुताबिक़ 21 फरवरी 2014 को  पुलिस मोहल की ऑर  पेट्रोलिंग  कर रही थी .तभी पीरडी  नाला के पास एक लाल रंग का आटो तिरपाल से ढका हुआ दिखाई दिया उसके साथ  ही  एक कार खड़ी थी और तीन लोग आटो  से कुछ उतार रहे थे कि तभी पुलिस  को देखकर  कार आटो की ऑर दौड़ी और गगन  ने तीनो को भागने के लिए कहा  तीन लोग पुलिस के हत्थे  चढ़े लेकिन एक अन्धेरे  का फायदा उठाकर फरार  हो गया .

कार में बैठे हरीश कुमार ने  गगन का नाम सार्वजनिक  किया . बोरिओं  की तलाशी  लेने पर उनमे जहाँ 338 किली दंदासा  पाया गया  फरार हुए व्यक्ति  का नाम  बताया गया .तहकीकात  के दौरान  गगन कुमार  ने बताया कि दंदासा  के कुछ और  बैग  उसने अपने स्टोर  में रखे  हुए  हैं .गवाहों के साथ  पुलिस ने तलाशी  ली तो  36 बोरी दंदासा पाया गया जिसमे से 7 किलो  चरस भी बरामद की गई . पुलिस ने आरोपी  के खिलाफ  मादक  पदार्थ  अधिनियम के तहत मामला  दर्ज किया और विशेष जज  कुल्लू की अदालत  में  मामले की सुनवाई हुई  अदालत ने कुल 19 गवाहों  के ब्यान और तर्क  सुनने  के बाद  दोषी को सजा सुनाई .

Print Friendly, PDF & Email

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY