केले में समाए हैं सेहत के राज

केले में समाए हैं सेहत के राज

आयुर्वेद के अनुसार पके केले में कैल्शियम के अलावा एक अन्य गुणकारी तत्त्व फॉस्फोरस भी होता है। यह मस्तिष्क की क्षमता को बढ़ाता है। गर्भावस्था, प्रौढ़ावस्था में केला कैल्शियम की कमी को दूर करता है। यह मस्तिष्क की क्षमता को विकसित करता है। साथ ही गर्भावस्था के दौरान होने वाले शिशु के लिए भी लाभकारी है।

केले में कैल्शियम के अलावा एक अन्य गुणकारी तत्त्व फॉस्फोरस भी होता है। यह मस्तिष्क की क्षमता को बढ़ाता है। गर्भावस्था, प्रौढ़ावस्था में केला कैल्शियम की कमी को दूर करता है। यह मस्तिष्क की क्षमता को विकसित करता है। साथ ही गर्भावस्था के दौरान होने वाले शिशु के लिए भी लाभकारी है।

 केले में कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, विटामिन और खनिज तत्व, विटामिन ए, सी, डी व आयरन, पोटेशियम, मैग्नीशियम, सोडियम आदि खनिज होने के कारण यह पौष्टिक व संतुलित आहार है। इससे पाचनक्रिया दुरुस्त होती है व रक्त में वृद्धि होती है।
 पढऩे वाले छात्रों के लिए केला बहुत शक्तिवर्धक है। केले में प्रोटीन की मात्रा कम होती है। इसलिए केला खाने के बाद दूध अवश्य पीना चाहिए। केला संपूर्ण आहार है। खाने के वक्त यदि दो केले खा लिए जाएं तो उस वक्त के खाने की पूर्ति हो जाती है।
 डिप्रेशन, हृदयघात व कैंसर जैसी बीमारियों में केला खाना लाभकारी है। चमकते दांतों के लिए दो हफ्ते तक केले के छिलके के अंदरुनी भाग से दांत साफ करें। इसमें मौजूद फॉस्फोरस मस्तिष्क की क्षमता को विकसित करता है। पका केला खाने से पाचनक्रिया मजबूत होती है।
Print Friendly, PDF & Email

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY