प्रधानमंत्री ने न्यू इंडिया कॉन्क्लेव को किया संबोधित

प्रधानमंत्री ने न्यू इंडिया कॉन्क्लेव को किया संबोधित

दिल्ली

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने नई दिल्ली में आज वाई4डी न्यू इंडिया कॉन्क्लेव को संबोधित किया. उन्होंने कहा कि देश आज बदलाव के दौर से गुजर रहा है. यह बताते हुए कि भारत आज दुनिया में सबसे अधिक रफ्तार से विकास करने वाली अर्थव्यवस्था है, प्रधानमंत्री ने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय रिपोर्ट के अनुसार भारत में गरीबी रिकॉर्ड रफ्तार से घट रही है. उन्होंने कहा कि सरकार केवल इनेबलर की भूमिका निभा सकती है जबकि युवा न केवल उपलब्ध संभावनाओं का फायदा उठा रहे हैं, बल्कि वे खुद के लिए नई संभावनाएं भी सृजित कर रहे हैं.

प्रधानमंत्री ने कहा कि युवाओं की आकांक्षाओं और ताकत की ही तरह भारत बड़ी-बड़ी परिवर्तनकारी पहल कर रहा है. इस संदर्भ में उन्होंने कुछ उदाहरण दिए जैसे: 3 करोड़ बच्चों का टीकाकरण, पिछले 4 साल के दौरान 1.75 लाख किलोमीटर ग्रामीण सड़क का निर्माण, प्रत्येक गांव तक बिजली की पहुंच, अक्टूबर 2017 से अब तक 85 लाख घरों का विद्युतीकरण, 4.65 करोड़ गरीब परिवारों को गैस कनेक्शन और पिछले 4 साल के दौरान गरीबों के लिए 1 करोड़ से अधिक मकानों का निर्माण.

प्रधानमंत्री ने कहा कि युवाओं की आकांक्षाओं और ताकत की ही तरह भारत बड़ी-बड़ी परिवर्तनकारी पहल कर रहा है. इस संदर्भ में उन्होंने कुछ उदाहरण दिए जैसे: 3 करोड़ बच्चों का टीकाकरण, पिछले 4 साल के दौरान 1.75 लाख किलोमीटर ग्रामीण सड़क का निर्माण, प्रत्येक गांव तक बिजली की पहुंच, अक्टूबर 2017 से अब तक 85 लाख घरों का विद्युतीकरण, 4.65 करोड़ गरीब परिवारों को गैस कनेक्शन और पिछले 4 साल के दौरान गरीबों के लिए 1 करोड़ से अधिक मकानों का निर्माण.

बड़े आंकड़े इसलिए संभव हो सके हैं क्योंकि भारत में 800 मिलियन लोग 35 वर्ष से कम आयु के हैं. प्रधानमंत्री ने देश के उन तमाम नेताओं का उदाहरण दिया जो महज साधारण पृष्ठभूमि से आते हुए आज शीर्ष पदों तक पहुंचे हैं. उन्होंने कहा कि उन्हें पता है कि न्यू इंडिया के युवा क्या चाहते हैं. प्रधानमंत्री ने कहा कि माहौल में बदलाव का दायरा केवल राजनीतिक तक ही सीमित नहीं है. उन्होंने कहा कि शीर्ष प्रशासनिक सेवाओं में अब तमाम युवा ग्रामीण एवं छोटे शहरों की पृष्ठभूमि से आ रहे हैं.

उन्होंने कहा कि हिमा दास और उनकी तरह खेल पदक जीतने वाले अन्य युवा न्यू इंडिया का प्रतिनिधित्व करते हैं. प्रधानमंत्री ने कहा कि यंग इंडिया को लगता है ‘कुछ भी संभव है. सब कुल हासिल किया जा सकता है’. प्रधानमंत्री ने कहा कि साइलोज को अब समाधान पर जोर के साथ बदला जा रहा है. उन्होंने कहा कि अब देश की जरूरतों को समझने और लोगों के जीवन को आसान बनाने पर जोर दिया जा रहा है. उन्होंने बताया कि भारतमाला, सागरमाला.

मुद्रा, स्टैंड-अप इंडिया और आयुष्मान भारत जैसी सरकार की योजनाएं और कार्यक्रम किस प्रकार देश की विभिन्न जरूरतों को पूरा करने के उद्देश्य से तैयार किए गए हैं. उन्होंने कहा कि सरकार नवाचार और अनुसंधान को काफी महत्व दे रही है. प्रधानमंत्री ने कहा कि युवा डिजिटल भुगतान को रफ्तार दे रहे हैं. उन्होंने कहा कि देश के स्वतंत्रता संग्राम में युवाओं की ताकत और उत्साह ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी. उन्होंने कहा कि न्यू इंडिया के लिए आज की पीढ़ी के युवाओं को भी वही भूमिका निभानी होगी.

Print Friendly, PDF & Email

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY