स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण-2018 प्रथम अगस्त से 31 अगस्त 2018 तक

स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण-2018 प्रथम अगस्त से 31 अगस्त 2018 तक

उपायुक्त ने स्वच्छ सर्वेक्षण के संबंध में प्रचार वाहनों को किया रवाना

सोलन 
केंद्रीय पेयजल एवं स्वच्छता मंत्रालय द्वारा प्रथम अगस्त 2018 से 31 अगस्त 2018 तक स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण-2018 आयोजित किया जाएगा. यह जानकारी उपायुक्त सोलन विनोद कुमार ने गत सांय यहां इस संबंध में लोगों को जागरूक करने के लिए पांच वाहनों को हरी झंडी दिखाने के उपरांत दी. विनोद कुमार ने कहा कि केंद्रीय पेयजल एवं स्वच्छता मंत्रालय द्वारा प्रथम अगस्त से 31 अगस्त 2018 तक देश के 698 जिलों में स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण आयोजित किया जाएगा.

इस सर्वेक्षण में देश के कुल 6980 गांवों में स्वच्छता जांची जाएगी. सर्वेक्षण के अंतर्गत देश के 34900 सार्वजनिक स्थल साफ-सफाई के लिए जांचे जाएंगे. उन्होंने कहा कि इस अवधि में केंद्र सरकार द्वारा चयनित टीमें देश के 1,74,500 नागरिकों से प्रत्यक्ष बातचीत कर स्वच्छता के संबंध में जानकारी प्राप्त करेंगी. उन्होंने कहा कि इस अवधि में देश के लगभग 50 लाख नागरिकों से स्वच्छता के संबंध में प्रत्यक्ष एवं ऑनलाइन जानकारी प्राप्त की जाएगी.

इस सर्वेक्षण में देश के कुल 6980 गांवों में स्वच्छता जांची जाएगी. सर्वेक्षण के अंतर्गत देश के 34900 सार्वजनिक स्थल साफ-सफाई के लिए जांचे जाएंगे. उन्होंने कहा कि इस अवधि में केंद्र सरकार द्वारा चयनित टीमें देश के 1,74,500 नागरिकों से प्रत्यक्ष बातचीत कर स्वच्छता के संबंध में जानकारी प्राप्त करेंगी. उन्होंने कहा कि इस अवधि में देश के लगभग 50 लाख नागरिकों से स्वच्छता के संबंध में प्रत्यक्ष एवं ऑनलाइन जानकारी प्राप्त की जाएगी.

उन्होंने कहा कि जिले की विभिन्न पंचायतों में लोगों को इस सर्वेक्षण के बारे में जागरूक करने के लिए पांच जागरूकता वाहन रवाना किए गए हैं. ये जागरूकता वाहन जिले के सभी पांच विकास खंडों की पंचायतों में जाएंगे. एक-एक वाहन एक-एक विकास खंड की पंचायतों में प्रचार अभियान सुनिश्चित बनाएगा.सभी वाहनों में इस संबंध में सूचना, शिक्षा व संप्रेशण सामग्री उपलब्ध करवाई गई है. उन्होंने कहा कि ये वाहन प्रथम अगस्त 2018 तक लोगों को इस संबंध में जागरूक बनाएंगे.

उपायुक्त ने कहा कि सर्वेक्षण के तहत केंद्र सरकार द्वारा प्रयुक्त टीमें जिले की विभिन्न पंचायतों को जांच के लिए चुनेंगी. इन पंचायतों में ग्राम स्तर पर स्वच्छता सर्वेक्षण किया जाएगा. टीम प्रत्यक्ष निरीक्षण के लिए चिन्हित गांवों में एक विद्यालय, आंगनबाड़ी केंद्र, सार्वजनिक स्वास्थ्य केंद्र, बाज़ार, धार्मिक स्थान एवं एक अन्य स्थल में विभिन्न मापदंडों के अनुसार स्वच्छता जांचेगी.

इन स्थानों पर शौचालय एवं अन्य संबद्ध सेवाओं की उपलब्धता, इनका उपयोग, सार्वजनिक स्थानों पर गंदगी, सार्वजनिक स्थानों में खड़ा पानी इत्यादि मापदंडों के अनुसार स्वच्छता जांची जाएगी. उन्होंने कहा कि टीमें स्थानीय लोगों से स्वच्छता के संबंध में फीडबैक भी प्राप्त करेगी. विनोद कुमार ने कहा कि सर्वेक्षण के लिए निर्धारित टीमें लोगों से स्वच्छ भारत ग्रामीण मिशन के संबंध में भी जानकारी जुटाएंगी. उन्होंने कहा कि यह ग्रामीण स्वच्छता सर्वेक्षण अब तक का सबसे बड़ा स्वच्छता सर्वेक्षण है.

उन्होंने जिलावासियों से आग्रह किया कि सभी इस स्वच्छता सर्वेक्षण का लाभ उठाएं और गांव की स्वच्छता के आधार पर सोलन को देश के सभी जिलों में स्वच्छता के मापदंडों पर अव्वल बनाएं. उन्होंने सभी से आग्रह किया कि स्वच्छता को जीवन का अभिन्न अंग बनाएं ताकि नागरिक पूर्ण रूप से स्वस्थ रहकर देश तथा प्रदेश के विकास में सक्रिय भागीदार बन सकें.

Print Friendly, PDF & Email

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY