क़ानूनी सलाह : राखी नेगी  ने  किन्नौर, हिमाचल प्रदेश से समस्या भेजी

क़ानूनी सलाह : राखी नेगी  ने  किन्नौर, हिमाचल प्रदेश से समस्या भेजी

राखी नेगी

मैंने कुछ समय पहले घऱ वालों को बिना बताए रजिस्टर्ड मैरिज की, दो साल से हमारे बीच प्यार था। उस का घर झज्जर, हरियाणा में बहुत दूर था, हम शिमला में मिले थे। हमने सोचा था कि एक साल बाद घर वालों को बताएंगे। मैं शादी के दिन ही घर आ गई किसी को पता नहीं चला। लेकिन मेरे पति ने शादी के 5 दिन बाद ही ड्रामा कर दिया। मेरे घर आ कर घरवालों और सभी रिश्तेदारों को धमकी और गालियाँ दीं। सोशल साइट पर मैरिज की फोटो डाल दी।

 लेकिन मेरे पति ने शादी के 5 दिन बाद ही ड्रामा कर दिया। मेरे घर आ कर घरवालों और सभी रिश्तेदारों को धमकी और गालियाँ दीं। सोशल साइट पर मैरिज की फोटो डाल दी। 

मेरे घर पुलिस भी भेज दी कि मेरी पत्नी को मार रहे हैं। मुझे थाने जाना पड़ा। पूरे एरिया को पता चल गया। मुझे विश्वास ही नहीं हो रहा था कि यह वही व्यक्ति है।

मैंने उस से बात की तो कहने लगा उस ने ड्रिंक कर ली थी इस कारण यह सब हो गया। मेरे घर वाले बोले कि घर वालों के साथ आ कर विदाई करा लो। पर वह नहीं आया। उस का परिवार शादी के खिलाफ है उन्होंने उसे घर से निकाल दिया है। वह फिर भी मेरे घर वालों को धमकी देता है। मैंने उसे कहा है कि तुमने जो कुछ किया है उस के बाद मैं तुम्हारे साथ नहीं आ सकती। फिर वह मुझे बहुत बुरा भला बोला और फिर कहा कि ड्रिंक कर ली थी। अभी 100 नंबर पर काल कर के फिर से पुलिस भेज दी है। अभी धारा 9 का केस कर दिया है। मेरे पापा, मम्मी मेरे कारण परेशान हैं. दो भाई हैं। मैं क्या करूँ आप बताएँ। मैं घर वालों के साथ रहना चाहती हूँ। 

 समाधान :

शादी इतनी हलकी चीज नहीं होती कि छोटी मोटी घटना से टूट जाए। इस कारण वह हलके में नहीं करना चाहिए। आपने केवल लड़के का बनावटी व्यवहार और बातों, वायदों पर ध्यान दिया। जिन्दगी के अन्य पहलुओं पर सोचा ही नहीं। आपको अपने माता -पिता और भाइयों के बारे में सोचना चाहिए था कि आपके इस कदम से उन पर क्या गुजरेगी । भाइयों के आत्मनिर्भर होने तक आप को परिवार को सपोर्ट करनी चाहिए  थी आप यह भी भूल गयीं। धारा 9 के प्रकरण में कुछ नहीं होगा। डिक्री भी हो जाएगा तो भी कोई जबरन आप को उस के साथ रहने को बाध्य नहीं कर सकता। अधिक से अधिक आप न जाएंगी तो उसे तलाक लेने का अधिकार मिल जाएगा। वह तो आप भी चाहने लगी हैं। लेकिन आप को भी तलाक के पहले खूब सोचना चाहिए। मेरी राय में अपने भाइयों के पैरों पर खड़े होने तक की प्रतीक्षा करनी चाहिए।विवाह से एक वर्ष तक की अवधि में तलाक का आवेदन नहीं दिया जा सकता। आपके पत्र से यह स्पष्ट नहीं हो पा रहा है कि यह शादी कब हुई, उसने ने जो हरकतें की हैं वे क्रूरता की श्रेणी में आती हैं और यदि विवाह का एक वर्ष पूरा हो चुका है तो  इस आधार पर आवेदन दिया जा सकता है।

हमारे इस कॉलम के तहत आप भी क़ानूनी सलाह अथवा मदद ले सकते हैं, यहाँ आपके सवालों के जवाब अथवा आपकी मदद करेंगी सुप्रीम कोर्ट की जानी-मानी अधिवक्ता भाक्ति पसरीजा (सर्वोच्च न्यायलय महिला अधिवक्ता संगठन की उपाध्यक्ष) एवं मोक्ष तथा  रंजन (कॉर्पोरेट लॉयर). अपने सवाल एवं सहायता हेतु हमें लिखें : newsindiatrustofficial@gmail.com

 

Print Friendly, PDF & Email

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY