आर्थिक जगत का नया ‘तहलका’ है BIT COIN | News India Trust

आर्थिक जगत का नया ‘तहलका’ है BIT COIN | News India Trust

80
0

दुनिया जहां नार्थ कोरिया व अमेरीका के बीच यु़द्ध के बने हालात के कारण आर्थिक मंदी के भंवर में फंस रही है वहीं बिटकॉइन के निवेशक चांदी काट रहे हैं।

12 मई 2017 को जिन निवेशकों ने बिट काॅइन 1,21,851 की दर पर खरीदा था आज वही बिट क्वाईन बढ़ कर 2,59,539 का हो चुका है यानि दो गुने से अधिक का मुनाफा। बैंकों में जहां धन दुगुना करने में लोगों को 8 से 10 साल का समय लग जाता है वहीं बिट काॅइन का निवेश तेजी से धन वृद्धि का आसान विकल्प बन उभर रहा है।

भारत में बिट काॅइन एक्सचेंज ‘जैबपे’ के मुताबिक बिट क्वाईन निवेशकों का मुनाफा पिछले तीन महीने में दुगुने से अधिक हो गया है। 12 मई 2017 को जिन निवेशकों ने बिट काॅइन 1,21,851 की दर पर खरीदा था आज वही बिट क्वाईन बढ़ कर 2,59,539 का हो चुका है यानि दो गुने से अधिक का मुनाफा। बैंकों में जहां धन दुगुना करने में लोगों को 8 से 10 साल का समय लग जाता है वहीं बिट काॅइन का निवेश तेजी से धन वृद्धि का आसान विकल्प बन उभर रहा है। id=’warning’]दिल्ली के सतीश त्यागी ने बिट काॅइन में 27 फरवरी को अपनी पैत्रिक संपत्ति बेंच कर 2 करोड़ का निवेश किया था आज उनका पैसा 5 करोड़ के लगभग हो चुका है।
उधर निवेशकों का शुरूआती डर भी अब कफूर हो चुका है। बिटकॉइन जैसी वर्चुअल करेंसी पर तत्काल पाबंदी की कोई संभावना नहीं दिख रही है हां फिलहाल सरकार इसको बढ़ावा देने के पक्ष में भी नहीं है। न्यूज़ इंडिया ट्रस्ट को मिली एक्सक्लूसिव जानकारी के मुताबिक इस मुद्दे पर बनी कमेटी ने बिटकॉइन जैसी वर्चुअल करेंसी की सख्त निगरानी की सिफारिश की है।
दिनेश शर्मा कमेटी ने सिफारिश की है कि आरबीआई, सेबी, इनकम टैक्स, सीबीईसी और फाइनेंशियल इंटेलिजेंस यूनिट के अधिकारियों को मिलाकर एक टास्क फोर्स बनाई जाए।
ये टास्क फोर्स ग्राहकों के हितों की रक्षा का ध्यान रखेगी। ये फाइनेंशियल इंटेलिजेंस यूनिट वर्चुअल करेंसी के दुरुपयोग पर नज़र रखेगी।
क्या है यह बिट क्वाॅइन ?
BIT COIN वह धन है जिसे आभासी धन भी कहा जाता है यह मोबाइल पर्स में ही संचित एवं इसी से व्यय होता है।

Print Friendly

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY