चुनाव से संबंधित दिशा-निर्देशों का पालन आवश्यकः राकेश कंवर

चुनाव से संबंधित दिशा-निर्देशों का पालन आवश्यकः राकेश कंवर

चुनाव

सोलन

जिला निर्वाचन अधिकारी राकेश कंवर ने कहा भारत के निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार जिले के पांचों विधानसभा क्षेत्रों में उम्मीदवारों को निर्धारित दिशा-निर्देशों का पालन करना होगा राकेश कंवर ने कहा निर्वाचन आयोग ने निष्पक्ष, पारदर्शी तथा भयमुक्त मतदान सम्पन्न करवाने के लिए नियम निर्धारित किए हैं।

 राजनीतिक दलों, गैर मान्यता प्राप्त राजनीतिक दलों, स्वतंत्र उम्मीदवारों स्वतंत्र उम्मीदवारों तथा आमजन से यह अपेक्षा की जाती है वे इन नियमों का पालन कर पूरी चुनाव प्रक्रिया को सफल बनाएं।जिला निर्वाचन अधिकारी ने जनप्रतिनिधित्व अधिनियम 1951 की धारा-123 के अनुसार मतदाताओं को किसी भी रूप में प्रलोभन देना, अनावश्यक प्रभाव डालना, धर्म, जाति, समुदाय अथवा भाषा के नाम पर अपील करना भ्रष्ट आचरण की श्रेणी में आता है।

 धर्म, जाति, समुदाय अथवा भाषा के आधार पर लोगों के मध्य नफरत की भावना उत्पन्न करना, किसी उम्मीदवार के चरित्र के विषय में झूठे वक्तव्य प्रकाशित करना, मतदान के दिन मतदाताओं को मतदान केन्द्र तक लाने ले जाने के लिए वाहनों का प्रयोग करना भी इस अधिनियम की धारा-123 के तहत भ्रष्ट आचरण माना गया है।निर्वाचन आयोग द्वारा निर्धारित सीमा से अधिक चुनावी व्यय करना, सरकारी कर्मियों की निर्धारित श्रेणियों से सहायता प्राप्त करना तथा मतदान केन्द्र पर कब्जा करना भ्रष्ट आचरण है।
राकेश कंवर  जनप्रतिनिधित्व अधिनियम 1951 की  धारा-125 के तहत चुनाव के संदर्भ में विभिन्न वर्गों के मध्य नफरत को प्रोत्साहित करना, धारा-126 के तहत पाबंदी के समय में जनसभाएं करना, धारा-127 के तहत चुनावी सभाओं में अशांति उत्पन्न करना निर्वाचन अपराध माना गया है। इस अधिनियम की धारा-127ए की अंतर्गत पोस्टर, हैंड बिल तथा पैम्पलेट इत्यादि के प्रकाशन पर आवश्यक प्रतिबंध लगाए गए हैं। इस तरह की चुनाव सामग्री पर प्रकाशक तथा प्रिंटर का नाम अंकित किया जाना अनिवार्य है।
जिला निर्वाचन अधिकारी के  जनप्रतिनिधत्व अधिनियम 1951 की धारा-128 के तहत मतों की गोपनीयता बनाए रखना अनिवार्य है। धारा-130 के तहत मतदान केन्द्र में अथवा मतदान केन्द्र के समीप किसी भी प्रकार के प्रचार पर प्रतिबंध है। धारा-134बी के तहत मतदान केन्द्र में अथवा मतदान के समीप सशस्त्र जाने पर प्रतिबंध है। धारा-135सी के तहत मतदान दिवस पर मदिरा की बिक्री एवं वितरण नहीं किया जा सकता।
राकेश कंवर भारतीय दण्ड संहिता की धारा-171बी के अनुसार रिश्वत देना, धारा-171सी के अनुसार प्रलोभन देना, धारा-171जी के अनुसार चुनाव से संबंधित झूठा वकतव्य देना, धारा-171एच के अनुसार चुनाव से संबंधित अवैध भुगतान करना तथा धारा-171आई के अनुसार चुनावी लेखा न रखना अपराध माना गया है। सफल मतदान के लिए आवश्यक है  इन सभी निर्देशों एवं नियमों का पूर्ण पालन सुनिश्चित बनाया जाए।

Print Friendly, PDF & Email

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY